अक्टूबर के अंतिम तक आयेगा बच्चो के लिए कवैक्सिन टीका

उत्तरप्रदेश बिहार सहित कई राज्यों के बाद अब्ब दिल्ली म भी स्कूल खुल गए है । इससे माता पिता व अभिभावक थोड़े चिंतित भी है। बच्चो के टीकाकरण का भी लोगों को इंतजार है। इस बीच उमीड है कि इस महा बच्चो पर कोवैक्साइन बीए ट्र्याल की प्रधमिक रिपोर्ट आ जाएगी। और अक्टूबर के अंतिम तक यह टीका बच्चो के लिए भी उपलब्ध होगा। शुरुआती दौर में पुरानी बीमारियों से पीड़ित बच्चो को टीका लग सकता है। डॉक्टर कहते है कि सभी बच्चो को टीका लगाने कि सभी जरूरत नहीं है।

एम्स सहित देश के छ हॉस्पिटल में दो से 18 साल की उम्र के 376 बच्चो को कोवैक्सिने की दोनो डोज दिन3 के बाद उसके प्रभाव का आकलन किया जा रहा है। एम्स में कम्युनिटी मेडिसिन के प्रोफेसर डा. संजय राय के नेतृत्व में यह ट्रयाल चल रहा है। उन्होंने कहा कि इसकी रिपोर्ट सितंबर में ही आ जनी चाहिए।

नेशनल टेक्निकल एडवाजारी ग्रुप ओं इम्यूनाइजेशन के कारोना पर गणित कार्य समिति के चेयरमैन डा. नरेंद्र कुमार अरोरा ने कहा कि अब तक के आंकड़ों से स्पष्ट है चुका है कि बच्चो में कॉरॉना का प्रवाभ बहुत ही कम होता है। यदि परिवार में सभी लोगो, स्कूल के शिशक सहित सभी कर्मचारी को तिकानलग गया है तो बच्चो के चारो ओर प्रतिरक्षा का आवरण बन जाता है। अब तक बड़ी संख्या में लोगों के टीका लग चुका है।ऐसे म3 बच्चो को लेकर अविभंको को जुड़ा चिंतित होने की जरूरत नहीं है।

उन्होंने कहा कि जयकोव डी टिके को इमर्जेंसी इस्तमाल की मंजुरुरी मिल चुकी हे। यह टीका जलदी लगनाना शरू हो जाएगा, जो 12 साल से अधिक उम्र के पुरानी बीमारियों से पीड़ित बच्चो को भी लगेगा। इसके बाद अक्टूबर के अंत तक कवैक्साइन का टीका भी बच्चो के लिए आ जाएगा। तब दो से 18 साल के उन सभी बच्चो को टीका लगाने का काम शुरू ह9 ज्येगा , जिन्हें पहले से कोई बीमारी है। फिलहाल हर बच्चे को टीका लगाना प्रमुखता नहीं है। अभी बड़े लोगो को ही टीका लगना प्रमुखता है।

Covaxin do children

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES
error: Alert: Content is protected !!