डियू के छात्र अब चंद्रावती रामायण की जगह रामचरितमानस पढ़ेंगे

डीयू में अब चंद्रावती रामायण नहीं पढाई नहीं जाएगी। इसकी जगह छात्रों को तुलसीदास रचित रामचरितमानस पढाई जाएगी।

डीयू में अब चंद्रावती रामायण नहीं पढाई नहीं जाएगी। इसकी जगह छात्रों को तुलसीदास रचित रामचरितमानस पढाई जाएगी। डीयू की ओवर्साइट कमेटी ने यह शिफारिश की है। यदि सब कुछ ठीक रहा तो बहुत जल्द शिफारिश के तहत पढ़यकर्म में बदलाव कर दिए जाएंगे ।

Du regular seat increase 800

ये बदलाव बीए, बीएससी, बीकॉम पाध्योकर्मो में किए जाएंगे।
डीयू सूत्रों ने बताया कि बीए ,बीएससी बीकॉम के पाचवे सेमेस्टर में बीए ऑनर्स अंग्रेजी की यूनिट चार में पूर्व उपनिवेशकों भरिए साहित्य पद्य जाता है। इसमें वूमेन वायरस अध्याय है। जिससे छात्रों को चंद्रावती रामायण पढाई जाती है। इसे बंगाली में लिखा गया है। जिसका मंडकरांता बोस और सारिका बोस ने अंग्रेजी म अनुवाद किया है। इसे डीयू के छात्र लंबे समय से पढ़ रहे है।

हाल ही में पढ़यकराम की समीक्षा के दौरान इसे हटाने को मांग ऊधी। डीयू की ओवर्सिट कमेटी ने अपनी रिपोर्ट मेकहा है कि वूमेन वायरस की समीक्षा करने को जरूरत है। इसमें छात्रों को चंद्रावती रामायण पढाई जा रही है।इसमें सितावको मंदोदरी की बेटी के रूप में दर्शाया गया है। यह कही से भी छात्रों के लिए प्रशंसिक नहीं है, इसे पढ़ने से बचना चाहिए।

कमेटी इसकी जगह तुलसीदास रचित रामचरितमानस पढ़ाने की सिफारिश को है। कमेटी ने अंग्रेजी विभाग के विभागाध्यक्ष को भी आ0नी मंशा से अवगत करा दिया है। सनद रहे कि अंग्रेजी ऑनर्स पाध्यकर्म से हाल ही में लेखिका महाश्वेता देवी को आदिवासी महिला पर लिखी लघु कथा दरोपती और दो दलित लेखोको के8 कहानी हटाई गई थी।

स्नातक पाठ्यक्रम में 800 सीटे बड़ी

du cutt of 2021

दिल्ली विश्व8धालिए में स्नातक पाठ्यक्रम में दाखिले के लिए पहला कटऑफ एक अक्टूबर को जारी होगा।
छात्रों के लिए इस बार कई नई पाठ्यक्रम में दाखिले के विकल्प होंगे। डीयू ने छात्रों की सहुलित के लिए करीब 800 सीटे बड़ा दी है।14 कॉलेज में दो दर्जन से ज्यादा पाठ्यक्रमों में यह सीटे बढ़ी है, वहीं कई कॉलेज में नए पाठ्यक्रम भी शुरू किए जाए।
नए पाठ्यक्रम एवम बढ़ी हुई सीटों पर इसी सत्र से छात्र दाखिला ले सकेंगे । हाल ही में हुई अकादमिक परिषद की बेढक में भ8 इस पर मुहर लग गई है। दाखिले के लिए आवेदन की परिक्रिया मंगलवार को समाप्त हो गई । पीजीडीएवी कॉलेज में शेशादिक सत्र 2021-22 से ही बीए होनोर्स अंग्रेजी की पढाई प्रारंभ होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES
error: Alert: Content is protected !!